About Us

जाटव समाज को कैसे आगे बढ़ाएँ ?


हमारे जाटव समाज के सभी व्यक्ति चाहते हैं कि हमारे समाज के लोग आगे बढ़ें, उन्नति करें और हमारा समाज सब समाजों से अच्छा समाज हो। बस यह सोचना कि हमारा समाज हो तो सोचने भर से समाज अच्छा नहीं होता हैं। हमें कुछ करना भी चाहिए। कहते है कि हम उन्नति करेगें तो हमारा परिवार उन्नति करेगा और हमारा परिवार उन्नति करेगा तो समाज उन्नति करेगा तथा समाज उन्नति करेगा तो देष उन्नति करेगा। कहने का मतलब है कि हम अच्छें बनें। अच्छे बननें के लिए सबसें पहले हमारा चाल चलन अच्छा होना जरूरी है। चाल चलन में आता है बड़ों की इज्जत देना, नरमाई से बात करना, किसी को मदद की जरूरत हो तो मदद करना, महिलाओं से अच्छा व्यवहार करना, बच्चों कों प्यार देना आदि। इसके बाद अच्छें बननें के लिए धन की जरूरी है। धन प्राप्ति के लिए हमें मेहनती और काम में होषियार होना चाहिए। धन आता है तो जाने का रास्ता पहले ढूँढ लेता है। इसलिए धन को बेकार नहीं जाने दें। हो सके तो जितना संभव हो बचाने की कोषिष करें। एक एक रूपया जोड़कर धनवान बनत हैं धन जोड़कर उसे अच्छें कार्यो में खर्च करें। अच्छें कार्य परिवार से शुरू करें। बच्चों को अच्छी षिक्षा दें अच्छा हुनर सिखाएं। बुरी आदतों से दुर रहें। हम इनसे दुर रहेगें तो हमारे बच्चे भी इनसे बचे रहेगे। अच्छा षिक्षित परिवार समाज की बुनियादी इकाई होती है। यदि रिष्तेदारों समाज को धन की जरूरत हो तो अपनी हैसियत के अनुसार हम धन से सहयोग करें। हमें समाज से कुछ लेने के बजाये देने की भावना रखना चाहिए। ऐसा करने पर रिष्तेदार व समाज के लेागों का ध्यान हमारी तरफ जाएगा। वे भी हमारी तरह होना चाहेगंे। वे अच्छें होने के राज हमसे जानने चाहेगें। यह सब करते समय हममें चतुराई और होषियारी भी होना चाहिये और यह ध्यान रखना चाहिए। कि कहीं किसी कार्य में हमारा, हमारे परिवार का हमारे, समाज का या समाज के किसी व्यक्ति का नुकसान तो नहीं हो रहा है। सुना है कि संगठन ही शक्ति है। फिर इस मंत्र को समझने में हमें देर नहीं लगेगी। समाज के हर पिछड़े जन को हम अपने साथ आगे लाने की कोषिष करेंगे और हमारा समाज आगे बढ़ता जायेगा, उन्नति करता जायेगा। हमारे वंष के हमारे पूर्वज भगवान श्री कृष्ण को हम प्रणाम करते हुए आषा करते है कि वे हमे अच्छी वृद्धि देवें और हमें अच्छें कार्य करने की शक्ति देवें।


अनिल कदम एक छोटी सी शुरूआत.....

© 2018 JATAVHADOTI.COM | All rights reserved | Developed by Digital Web Solutions